बहुत काम की है Linking, जानिए Internal Link or External Link का मतलब

बहुत काम की है Linking, जानिए Internal Link or External Link का मतलब
- सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वाला या फिर कंटेंट लिखने वाले लोगों को अक्सर ही इंटरनल लिंक और एक्टरनल लिंक का इस्तेमाल करना होता है लेकिन ज्यादातर लोगों को इसकी जानकारी नहीं होती है कि आखिर ये होते क्या हैं और इनका इस्तेमाल कहां किया जाता है। अगर आपके मन में भी यही कनफ्यूजन है, तो आज हम आपकी इस कनफ्यूजन को दूर करेंगे। कोई भी कंटेंट क्रिएट करते समय external link or internal link का इस्तेमाल कई जगह किया जाता है। हालांकि इसका इस्तेमाल कहां और कब किया जाए। इस बात को लेकर मन में कई तरह की कनफ्यूजन रहती हैं।

आज इस पोस्ट के जरिए हम आपको इस बात की सही जानकारी देंगे कि आपको कोई भी पोस्ट लिखते समय linking करना क्यों जरूरी होता है और एक्सटरनल लिंक और इंटरनल लिंक कहां इस्तेमाल किया जाता है। सबसे पहले हम जानेंगे कि आखिर लिंक क्या होता है।

Linking क्यों जरूरी होती है 

कोई भी पोस्ट लिखते समय अगर आप पाठक को किसी दूसरी वेबसाइट या फिर किसी दूसरे पोस्ट पर ले जाना चाहते हैं, जो कि काफी इंटरेस्टिंग है। लिंकिंग प्रक्रिया के जरिए आप सीधे उस पाठक को उस पोस्ट पर ले जा सकते हैं। ऐसा करने से आपकी बाउंस रेट में कमी आएगी और रैंकिंग में भी आपको काफी ज्यादा फायदा मिलेगा।

Read More - जानिए क्या होते हैं Cracked Software, क्या होते हैं इनके फायदे और नुकसान

Link क्या होता है 

आपने अक्सर पोस्ट या कंटेंट लिखने वाले लोगों को link का प्रयोग करते हुए देखा होगा या फिर उन्हें इसके बारे में बात करते हुए सुना होगा। तो आपको बता दें कि लिंक का साधारण सा अर्थ होता है दो उपकरणों को एक साथ जोड़ना। इसे ही लिंक कहा जाता है। हालांकि एक्सटरनल  लिंक और इंटरनल लिंक इससे काफी अलग हैं। ऑनलाइन या फिर वेब की दुनिया में जब दो पार्ट्स को आपस में जोड़ने को ही लिंक कहा जाता है।

लेकिन कभी-कभी हम हाइपर लिंक का भी इस्तेमाल करते हैं, जिसका इस्तेमाल भी पोस्ट लिखते समय किया जाता है। बताते चलें कि हाइपर लिंक मुख्य रूप से तीन तरह के होते हैं, जिनका इस्तेमाल अक्सर ही किया जाता है। जिनमें से पहला होता है- Internal Link, दूसरा होता है- External Link और तीसरा होता है- Anchored Link।

Internal Link का मतलब और इस्तेमाल

वेब की दुनिया में इंटरनल लिंक का इस्तेमाल काफी ज्यादा किया जाता है। इसका इस्तेमाल एक ही वेबसाइट के अलग-अलग पोस्ट को आपस में एक दूसरे से जोड़ने के लिए किया जाता है। दरअसल जब हम अपने पोस्ट पर किसी अन्य पेज का लिंक लगाते हैं, जिससे कोई भी पाठक उस लिंक के जरिए उस पोस्ट या पेज पर पहुंच जाता है। इस लिंकिंग प्रक्रिया को ही हम Internal Link कहते हैं। 

External Link का मतलब और इस्तेमाल

जिस तरह से हम इंटरनल लिंक का इस्तेमाल अपने पोस्ट में करते हैं, उसी तरह से ही External Link का इस्तेमाल भी वेब की दुनिया में काफी ज्यादा किया जाता है। इस प्रक्रिया में हम किसी पोस्ट में उसी वेबसाइट या पोस्ट के दूसरे पेज को लिंक नहीं करते हैं, बल्कि इसमें हम दूसरी वेबसाइट और उनके पेज का लिंक लगाते हैं। ऐसे में जब कोई पाठक पोस्ट पढ़ते समय अगर उस लिंक पर क्लिक कर देता है, तो वह उस वेबसाइट के पेज पर पहुंच जाता है। लेकिन हमने जिस भी वेबसाइट के पोस्ट का लिंक लगाया होता है, अगर वह डिलीट हो जाता है, तो लिंक पर क्लिक करने पर 404 का एरर दिखाने लगता है।

Anchored Link का मतलब और इस्तेमाल

इंटरनल और एक्सटरनल लिंक के अलावा एक और लिंक होता है, जिसका नाम है Anchored Link। इस लिंक में एक ही लोकेशन के पोस्ट या पेज को लिंक करते हैं। आप इस तरह से समझिए कि जब कभी हम किसी वेबसाइट में स्क्रॉल कर नीचे आते हैं, तो वहां पर हमें Back to Top का लिंक दिखाता है, जिस पर क्लिक करते ही हम सीधे उस वेबसाइट के टॉप पर चले जाते हैं। 


Post a Comment

Thank'S For Your Valuable FeedBack

और नया पुराने